google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

आशिक ने तीन साथियों के साथ किए चार मर्डर, पुलिस ने खोला राज़ तो होश फाख्ता हो गए



बहराइच जिले के थाना फखरपुर इलाके में तीन बच्चों सहित 1 महिला की गला रेतकर फेंकी गई लाश का राजफाश एक सप्ताह के भीतर ही पुलिस टीम ने कर दिया है। 3 बच्चों सहित 4 लोगों की गला काट कर हुई मर्डर मिस्ट्री के मामले में ततेहरा गांव निवासी 03 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पकड़े गए आरोपितों के निशानदेही पर पुलिस ने आला कत्ल बरामद कर लिया है। आरोपितों के खिलाफ पुलिस ने हत्या का मुकदमा दर्ज कर उन्हें जेल भेज रवाना कर दिया है।


आपको बता दें कि, बीते 11 सितंबर को थाना फखरपुर के गजाधरपुर ग्राम पंचायत के बसंतापुर संपर्क मार्ग पर सड़क किनारे गन्ने के खेत में आठ वर्ष के लड़के व 10 वर्ष की लड़की का गला रेतकर शव फेंक दिया गया था। घटना के 24 घंटे नहीं बीते थे कि 12 सितंबर को फिर लखनऊ-बहराइच हाईवे से 100 मीटर की दूरी पर ग्राम पंचायत माधवपुर के पास धान के खेत से चार वर्षीय बालिका एवं 35 वर्षीय महिला का सिर काटकर फेंका गया शव बरामद हुआ था।

जिससे इलाके में हडक़म्प मचा था,पुलिस के लिये चार मर्डरकाण्ड की घटना शाख का सवाल बनी थी।


घटना के खुलासे के लिये पुलिस की कई टीमें लगी हुई थी।

मामले की जानकारी देते हुए IG राकेश सिंह ने बताया कि महिला एवं तीनों बच्चे मुंबई शहर के रहने वाले थे। बीते 09 सितंबर को उन्हें फखरपुर के ततेहरा निवासी सलमान, दानिश व ननकू मुंबई से पुष्पक एक्सप्रेस के एसी कोच एस-6 व एस-7 से लखनऊ लेकर आए थे। सभी एक रात होटल में रुके।


दूसरे दिन उन्हें सुनियोजित तरीके से फखरपुर इलाके में लाया गया और एक-एक कर चारों को मौत के घाट उतार कर शवों को इधर-उधर फेंक दिया गया। जघन्य वारदात को अंजाम देने के बाद सभी वापस मुंबई चले गए थे। IG ने बताया कि घटनास्थल पर मिले एक पर्चे व सर्विलांस के सहयोग से पुलिस टीमों को मुंबई भेजकर तीनों हत्यारोपितों को गिरफ्तार कर लिया गया। सभी ने अपना जुर्म भी कबूल कर लिया है।


IG राकेश सिंह ने बताया कि मृतका की शिनाख्त 35 वर्षीय मैरी काशी कत्रायन, 11 वर्षीय राजाती, सात वर्षीय जोसेफ, चार वर्षीय सौंदर्या निवासी गण मुंब्रादेवी, आर्केट, दिवाठष्ट थाना मुंब्रा जिला थाने राज्य महाराष्ट्र के रूप में की गई है।


पकड़े गए हत्यारोपियों की पहचान फखरपुर थाना क्षेत्र के ततेहरा गांव निवासी ननकू पुत्र मुबारक अली, सलमान खान पुत्र उस्मान खान व दानिश खान पुत्र नसीम खान के रूप में हुई। हत्यारोपियों से पूछताछ के दौरान अज्ञात शवों की शिनाख्त हुई। आईजी ने बताया कि पूछताछ के दौरान अज्ञात शवों की शिनाख्त करते हुए हत्यारोपियों ने बताया कि 35 वर्षीय महिला मैरी काशी कत्रायन पुत्री काशी कत्रायन, 11 वर्षीय राजाती, सात वर्षीय जोसेफ व चार वर्षीय सौंदर्या निवासी मुमरा देवी आर्केड दिवा ईस्ट थाना मुम्ब्रा जिला थाणे राज्य महाराष्ट्र के रहने वाले थे। सभी ने महिला का मकान बेचे जाने के बाद मिले 60 लाख रुपये हड़पने व छुटकारा पाने के लिए हत्याकांड को अंजाम देने की बात स्वीकार की। तीनों हत्यारोपियों को नामजद करते हुए पुलिस ने जेल भेज दिया है।


ऐसे हुआ था हत्यारोपी का महिला से प्रेम संबंध


आईजी डॉ. राकेश सिंह व एसपी सुजाता सिंह ने बताया कि ननकू पुत्र मुबारक अली अपने गांव से महाराष्ट्र कमाने गया था। महाराष्ट्र के जिला थाणे के दिवा में एक इडली डोसा की दुकान में काम करता था। जहां पर ननकू की मुलाकात मैरी से हुई। जो अपने पति से अलग रहती थी। वह भी दुकान में काम कर रही थी। दुकान पर काम करने के दौरान ननकू व मैरी की दोस्ती हुई और प्रेम-प्रसंग शुरू हो गया। लगभग चार महीने पहले ननकू के कहने पर मैरी ने अपना मकान बेच कर रुपये ननकू को दे दिए। मैरी लगातार ननकू के ऊपर शादी करने का दबाव बनाती थी। ननकू के गांव घूमने चलने व शादी का दबाव डालने पर ननकू परेशान हो गया। ननकू पहले से ही शादी शुदा था। ननकू मैरी से पीछा छुड़ाकर रुपये को हड़पना चाह रहा था। मैरी से छुटकारा पाने के लिए ननकू ने अपने ही गांव के रहने वाले सलमान खान व दानिश खान के साथ मिलकर मैरी और उसके बच्चों को मार डालने की साजिश रच डाली। नौ सितंबर को ट्रेन के माध्यम से मुंबई से चले और 10 सितंबर को बहराइच आए। उसके बाद तीनों ने मिलकर अलग-अलग स्थानों पर तीनों बच्चों व मां का गला रेतकर मौत के घाट उतार दिया। उसी रात वापस लखनऊ पहुंचे और ट्रेन से मुंबई चले गए।

इनाम का ऐलान


चार जघन्य हत्याकांड का राजफाश करने वाली पुलिस टीम को उत्तर प्रदेश शासन ने एक लाख रुपये का इनाम देने की घोषणा की तो IG की तरफ से पुलिस टीम को 50 हजार व SP बहराइच की तरफ से 25 हजार का नकद पुरस्कार देने की घोषणा की गई है।


टीम स्टेट टुडे


विज्ञापन

Comments


bottom of page