google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

एनकाउंटर के डर के बीच अतीक अहमद को साबरमती जेल से यूपी पुलिस लाएगी प्रयागराज


प्रयागराज, 26 मार्च 2023 : उमेश पाल हत्‍याकांड के मुख्‍य आरोपित माफिया अतीक अहमद को साबरमती जेल से प्रयागराज लाने के लिए यूपी पुलिस अहमदाबाद पहुंची है। पुलिस अतीक को सड़क मार्ग से प्रयागराज लाने की तैयारी में है। ऐसे में अब सवाल उठ रहे हैं कि विकास दुबे की तरह अतीक की गाड़ी भी रास्‍ते में कहीं पलट न जाए। अतीक अहमद ने एनकाउंटर के डर की वजह से ही सुप्रीम कोर्ट में यूपी ट्रांसफर न किए जाने के लिए याचिका भी दाखिल की थी।

अतीक अहमद के वकील ने सुप्रीम कोर्ट से की थी सुनवाई टालने की अपील

बता दें कि फर्जी मुठभेड में मार दिए जाने की आशंका जताते हुए बाहुबली अतीक अहमद की सुप्रीम कोर्ट से सुरक्षा की गुहार लगाने वाली याचिका पर गुरुवार यानी 17 मार्च को को सुनवाई होनी थी पर फिर इसे एक सप्ताह के लिए टाल दिया गया था।

अतीक अहमद के वकील ने ही सुप्रीम कोर्ट से सुनवाई टालने का आग्रह करते हुए कुछ अतिरिक्त दस्तावेज दाखिल करने के लिए एक सप्ताह का समय देने की मांग की थी। कोर्ट ने मांग स्वीकार करते हुए सुनवाई तो एक सप्ताह के लिए टाल था। इसके साथ ही सुनवाई स्थगन की मांग पर एतराज जताते हुए कहा था कि पहले तो सीजेआइ के पास केस मेंशन कर जल्द सुनवाई की मांग की जाती है। न्यायमूर्ति अजय रस्तोगी और बेला एम. त्रिवेदी की पीठ ने शुक्रवार को अतीक अहमद की याचिका पर सुनवाई एक सप्ताह के लिए टालते हुए यह आदेश दिया था।

अतीक ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर जताया था फर्जी एनकाउंटर का डर

राजू पाल हत्याकांड में अहमदाबाद की सेंट्रल जेल में बंद समाजवादी पार्टी के पूर्व सांसद अतीक अहमद ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर जान को खतरा और यूपी पुलिस द्वारा फर्जी एनकांउटर में मार दिये जाने की आशंका जताते हुए सुप्रीम कोर्ट से सुरक्षा सुनिश्चित करने की मांग की है। अतीक ने याचिका में कहा है कि उसे और उसके परिवार को उमेश पाल की हत्या के मामले में झूठा फंसाया गया है। उसकी जान को उत्तर प्रदेश पुलिस से खतरा है। इतना ही नहीं यूपी के मुख्यमंत्री ने बिना किसी जांच के सिर्फ संदेह के आधार पर विधानसभा में बयान दिया कि वह उसे (अतीक अहमद) को पूरी तरह खत्म कर देंगे। ऐसे में उसे और उसके परिवार को वास्तव में जान का खतरा है जिसके कारण उसने यह याचिका दाखिल की है।

अतीक ने केंन्द्रीय पुलिस बल या पैरामिलेट्री फोर्सेस की अभिरक्षा में की थी यूपी भेजने की मांग

अतीक अहमद ने याचिका में मांग है कि उत्तर प्रदेश पुलिस को पूछताछ के लिए उसे अहमदाबाद सेंट्रल जेल से प्रयागराज या उत्तर प्रदेश में कहीं भी ले जाने से रोका जाए। उससे जो भी पूछताछ करनी है वह सेंट्रल जेल अहमदाबाद में ही की जाए। अगर उत्तर प्रदेश ले जाना बहुत जरूरी हो तो उसे अहमदाबाद से उत्तर प्रदेश केंन्द्रीय पुलिस बल या पैरामिलेट्री फोर्सेस की अभिरक्षा में भेजा जाए। उसे अहमदाबाद सेंट्रल जेल से प्रयागराज ले जाने के लिए अगर कोई वारंट जारी हुए हैं तो उन्हें रद किया जाए।

अतीक की पत्‍नी शाइस्ता ने CM Yogi से की थी CBI जांच की मांग

अतीक की पत्नी शाइस्ता परवीन ने सीएम योगी को पत्र भेजकर उमेश पाल हत्याकांड की सीबीआइ जांच कराने की मांग की है। जिससे सच्चाई सामने आ सके। शाइस्ता ने पत्र में प्रयागराज से विधायक चुने गए एक कैबिनेट मंत्री और दो पुलिस अधिकारियों पर अतीक अहमद और बेटों की हत्या की साजिश रचने का आरोप लगाया है। शाइस्ता ने लिखा कि वह आगामी चुनाव में महापौर पद की प्रत्याशी हैं, जबकि कैबिनेट मंत्री महापौर पद अपने घर में रखना चाहते हैं इसलिए उमेश पाल की हत्या कराकर उन्हें फंसाया गया, ताकि चुनाव से दूर रखा जा सके।

कन्‍नौज MP सुब्रत पाठक ने कहा था 'अतीक की भी गाड़ी पलट जाय तो मुझे कोई आश्चर्य नहीं'

कन्‍नौज से भाजपा सांसाद सुब्रत पाठक ने कहा था कि उत्तर प्रदेश पुलिस की सुरक्षा में उमेश पाल सहित पुलिस सुरक्षाकर्मी की हत्या सीधे उत्तर प्रदेश की सरकार पर हमला है। याद रखो जब विकास दुबे नहीं बचा तो इन दुर्दांतों का क्या होगा, ये बताने की आवश्यकता नहीं है। और अब यदि गाड़ी अतीक की भी पलट जाय तो मुझे कोई आश्चर्य नहीं होगा।

मंत्री जेपीएस राठौर ने कहा था कि, 'माफियाओं को पाताल लोक से भी खोज कर लाएंगे'

उप्र सरकार में मंत्री जेपीएस राठौर ने अपने एक बयान में कहा था कि माफियाओं के ठिकानों पर पुलिस के द्वारा दबिश दी जा रही है। इनको पाताल लोक से भी खोज कर लाएंगे। जब ये पकड़े जाएं तो गाड़ी में बैठते समय हाय-तोबा न करें। कहीं असंतुलित होकर गाड़ी पलट न जाए।

35 views0 comments

Comments


bottom of page