google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

कमजोर कड़ी पर भाजपा की नजर, सीएम योगी आदित्यनाथ ने संभाला पहला मोर्चा


लखनऊ, 18 सितंबर 2022 : लोकसभा चुनाव 2024 में उत्तरप्रदेश से अधिकसे अधिक सीटजीतने के अभियानमें लगी भारतीयजनता पार्टी नेपहले कमजोर कड़ीयानी 2019 में पराजयझेलनी वाली सीटोंपर ध्यान पूरीतरह से केन्द्रितकर दिया है।भाजपा को 2019 में 16 सीट पर हारका स्वाद चखनापड़ा था, जिसमेंसे दो परपार्टी ने लोकसभाउप चुनाव मेंजीत दर्ज करसंख्या को 14 पर लादिया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथइन 14 पर भीजीत का लक्ष्यलेकर मैदान मेंडट गए हैं।इसी क्रम मेंउन्होंने बीते दिनोंमुरादाबाद मंडल कोमथा और फिरपूर्वी उत्तर प्रदेश केजौनपुर, मऊ, गाजीपुरमें भी डटे।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथके साथ हीडिप्टी सीएम केशवप्रसाद मौर्य तथा डिप्टीसीएम ब्रजेश पाठकने मैनपुरी कोखंगाला।भाजपा शीर्ष नेतृत्वके निर्देश परकेन्द्र सरकार के चारमंत्री भी 14 सीट परप्रवास कर अपनीरिपोर्ट सौंप चुकेहैं। अब रणनीतिकार 2019 में इन सीटोंपर भाजपा कोमिली हार केकारणों का निदानकरेंगे। अब उसीआधार पर चुनावीरणनीति को औरधार देने कीतैयारी है।

पौने दोलाख बूथों कागुणा-भाग लगाकरबैठी भाजपा

प्रदेश के कुलपौने दो लाखबूथों का गुणा-भाग लगाकरबैठी भाजपा नेमिशन-2024 के तहसबसे पहले इनहारी हुई 14 सीटोंके लिए हीरणनीति पर कामशुरू किया। चारकेंद्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंहतोमर, अश्वनी वैष्णव, जितेंद्र सिंह औरअन्नपूर्णा देवी केप्रवास कार्यक्रम तय हुए।उन्होंने अपने प्रवासकर स्थानीय जनप्रतिनिधियों, संगठन पदाधिकारियों-कार्यकर्ताओंऔर आमजन सेफीडबैक लेकर रिपोर्टतैयार की। कईबिंदुओं के प्रोफार्मापर जानकारी देदी है किइन 14 सीटों परविपक्ष कितना मजबूत है, उसके कारण क्याहैं और भाजपाके लिए संभावनाएंक्या हो सकतीहैं। उत्तर प्रदेशमें 14 हारी सीटोंकी समीक्षा रिपोर्टमंत्रियों ने राष्ट्रीयअध्यक्ष जेपी नड्डाऔर गृहमंत्री अमितशाह को सौंपदी है।

भाजपा गठबंधन कोकुछ सीटों कानुकसान जरूर हुआ

भाजपा ने 2014 केलोकसभा चुनाव में प्रचंडमोदी लहर केसहारे प्रदेश की 80 में से 73 सीटों परजीत दर्ज की।इसे देखते हुएही 2019 के लोकसभाचुनाव में सपाऔर बसपा मिलकरभाजपा का सामनाकरने के लिएउतरीं। इससे भाजपागठबंधन को कुछसीटों का नुकसानजरूर हुआ, लेकिनविरोधी खेमा तबभी अपेक्षित सफलतानहीं पा सका।भाजपा गठबंधन ने 64 सीटें जीतीं, जबकि बहुजनसमाज पार्टी नेदस तथा समाजवादीपार्टी ने पांचसीट जीती। कांग्रेससिर्फ रायबरेली तकसिमट गई।

भाजपा की नजरइन सीटों पर

अम्बेडकरनगर-बपसा-रीतेशपाण्डेय

अमरोहा-बसपा-कुंवरदानिश अली

बिजनौर-बसपा-मलूकनागर

गाजीपुर-बसपा-अफजालअंसारी

घोसी-बसपा-अतुल राय

जौनपुर-बसपा-श्यामसिंह यादव

लालगंज-बसपा-संगीताआजाद

नगीना-बसपा-गिरीशचंद

सहारनपुर-बसपा-हाजीफजलुर्रहमान

श्रावस्ती-बसपा-रामशिरोमणि

मैनपुरी-सपा-मुलायमसिंह यादव

मुरादाबाद-सपा-डा. एसटी हसन

सम्भल-सपा-डा. शफीकुर्रहमान बर्क

रायबरेली-कांग्रेस-सोनियागांधी

आजमगढ़ और रामपुरसंसदीय सीट परउप चुनाव मेंभाजपा ने हालही जीत दर्जकी है। यहदोनों सीट तोसमाजवादी पार्टी के पासथीं। अब समाजवादीपार्टी के पाससिर्फ तीन सीट।मैनपुरी, सम्भल तथा मुरादाबादही हैं। अबभाजपा गठबंधन केपास 66 और विपक्षीदलों के पास 14 सीटें रह गईहैं।


2 views0 comments

Kommentare


bottom of page