google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

अमित शाह का बड़ा ऐलान, अगली जनगणना ई-जनगणना होगी


लखनऊ, 9 मई 2022 : केंद्रीय गृह मंत्रीशाह ने कहाकि 100 प्रतिशत गणना सुनिश्चितकरने के लिएजनगणना प्रक्रिया का डिजिटलीकरणकिया गया है।इससे उम्मीद हैकि अगली जनगणनामें शत प्रतिशतगणना होगी। वहकामरूप जिले केमुख्यालय अमिनगांव में जनगणनासंचालन निदेशालय (असम) केभवन का उद्घाटनकरने के बादसभा को संबोधितकर रहे थे।उन्होंने कहा किकई पहलुओं केचलते जनगणना जरूरीहै। आबादी कोलेकर संवेदनशील असमजैसे राज्यों केलिए तो यहऔर भी अहमहै।

नीतियों को देगीआकार

केंद्रीय गृह मंत्रीअमित शाह नेसोमवार को कहाकि अगली ई-जनगणना अगले 25 वर्षोंकी नीतियों कोआकार देगी। इससेजुड़ा साफ्टवेयर लान्चहोने के बादमैं और मेरापरिवार सबसे पहलेआनलाइन विवरण भरेंगे।

नीति निर्माणमें जनगणना कीमहत्वपूर्ण भूमिका

केंद्रीय गृह मंत्रीने यह भीबताया कि जन्मऔर मृत्यु रजिस्टरको जनगणना सेजोड़ा जाएगा। साल 2024 तक हर जन्मऔर मृत्यु कापंजीकरण होगा यानीहमारी जनगणना अपनेआप अपडेट होजाएगी। उन्‍होंनेकहा कि कहाकि नीति निर्माणमें जनगणना कीमहत्वपूर्ण भूमिका होती है।केवल जनगणना हीबता सकती हैकि विकास, एससीऔर एसटी कीस्थिति क्या है।पहाड़ों, शहरों और गांवोंमें लोगों कीजीवन शैली कैसीहै...

सीमावर्ती क्षेत्रों केविकास पर जोर

केंद्रीय गृह मंत्रीअमित शाह नेसोमवार को कहाकि केंद्र सरकारदेश के सीमावर्तीक्षेत्रों का विकाससुनिश्चित करने केलिए प्रयासरत है।दो दिन केदौरे पर असमपहुंचे शाह नेमनकाचर सेक्टर में भारत-बांग्लादेश सीमा परसुरक्षा की स्थितिकी समीक्षा करनेके साथ सीमासुरक्षा बल (बीएसएफ) के अधिकारियों केसाथ चर्चा की।इससे पहले, सुबहके समय शाहने कामाख्या मंदिरमें पूजा अर्चनाकी।

सीमावर्ती क्षेत्रों मेंविकास का अभाव

केंद्रीय गृह मंत्रीने कहा किसीमावर्ती क्षेत्रों में विकासका अभाव है, जिसकी वजह सेलोगों का पलायनहो रहा है।उन्होंने कहा किप्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सीमाईइलाकों के विकासके लिए लगातारप्रयास कर रहेहैं। उन्होंने ट्वीटकर कहा किदेश की सुरक्षाको मजबूत करनेके लिए सीमावर्तीक्षेत्रों में तैनातबीएसएफ के जवानोंको अत्याधुनिक तकनीकसे लैस कियाजाएगा।

सीएपीएफ कैंटीन मेंखादी उत्पादों कीबिक्री का शुभारंभ

तमुलपुर में बीएसएफके केंद्रीय कार्यशालाऔर स्टोर काशिलान्यास करने केसाथ ही केंद्रीयगृह मंत्री शाहने केंद्रीय सशस्त्रपुलिस बल (सीएपीएफ) की 107 कैंटीन में खादीउत्पादों की बिक्रीका शुभारंभ किया।इस मौके परउन्होंने कहा किजल्द ही देशभरमें सीएपीएफ कीसभी कैंटीन मेंखादी उत्पादों कीबिक्री शुरू होगी।उन्होंने यह कहाकि यह दोनोंकार्यक्रम आत्म निर्भरभारत का उदाहरणहै, जिससे स्थानीयस्तर पर युवाओंको रोजगार भीमिलेगा।

बोडो बहुलक्षेत्रों के विकासको लेकर पीएममोदी प्रतिबद्ध

शाह नेकहा कि प्रधानमंत्रीमोदी बोडोलैंड प्रादेशिकक्षेत्र (बीटीआर) के समग्रविकास को लेकरप्रतिबद्ध हैं। इसमेंबोडो बहुल क्षेत्रआते हैं। जल्दही बीटीआर केलिए 500 करोड़ रुपये कानया पैकेज जारीकिया जाएगा। बोडोसमझौते के 90 प्रतिशत हिस्सेको केंद्र औरराज्य की तरफसे पूरा कियागया है।

9,000 अग्रवादियों ने हथियारडाले

शाह नेकहा कि सातसाल पहले भाजपाने वादा कियाथा कि राज्यसे उग्रवाद कोखत्म कर देगी।तब से अबतक 9,000 उग्रवादियों ने हथियारडाले हैं। केंद्रसरकार ने जनवरी 2020 में नेशनल डेमोक्रेटिक फ्रंटआफ बोडोलैंड (एनडीएफबी) के साथ शांतिसमझौता किया थाऔर उसके मुताबिकराजनीतिक और आर्थिकसुविधाएं प्रदान की जारही हैं।

33 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0