आप गुणा-गणित में उलझे रहे और यूपी में पूरा हो गया बीजेपी संगठन और सरकार का पहला वार्मअप राउंड



आप गुणा-गणित में उलझे रहे और यूपी में पूरा हो गया बीजेपी संगठन और सरकार का पहला वार्मअप राउंड

सियासत में अक्सर जो होता है वो दिखता नहीं जो दिखता है वो होता नहीं। वर्तमान में उत्तर प्रदेश भाजपा में कलह और परिवर्तन की खबरें और चर्चाएं जोरों पर हैं। हर किसी को लग रहा है कि ये होगा , वो होगा, ऐसा होगा, वैसा होगा। हकीकत ये है कि भारतीय जनता पार्टी जो होगा उसका पता तभी चलेगा जब वो होगा।


वर्तमान का सच ये है कि भारतीय जनता पार्टी पूरी तरह से चुनावी मोड में आ चुकी है। अब हर परिवर्तन 2022 में सत्ता परिवर्तन बचाने के लिए ही होगा। बीजेपी इस समय यूपी में डिफेंडिंग चैंपियन की भूमिका में है। 2014 फिर 2017 फिर 2019 और अब 2022। ये भी सच है कि वर्तमान सरकार में कोई मुख्यमंत्री से नाराज होगा, कोई अपनी सुनवाई ना होने से, किसी को कोरोनाकाल में अपनी ही सरकार में कमियां दिख रही होंगी, कोई पार्टी बदलने की भी सोच रहा होगा।


ऐसे हर कयास, संभावना और हकीकत से आगे लक्ष्य 2022 में वापसी का है। जो असंतुष्ट है वो भी जानते हैं कि सत्ता में होने और सत्ता में ना होने का मर्म क्या है। इसलिए फिलहास शुद्ध सियासी भाषा में कहें तो सत्ता में वापसी करनी है यही लक्ष्य और इसी का मंत्र दिया जा रहा है।


फिलहाल आपको आश्चर्य होगा जानकर कि विपक्ष के साथ साथ पार्टी और संगठन और सरकार से पहले मैदान का मुआयना कर गोलपोस्ट पर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ खड़ा हो चुका है। अब फार्वर्ड लाइन और डिफेंस तैयार किया जा रहा है। एक एक जानकारी बिंदुवार इक्ट्ठा की गई है।



31 मई को भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री संगठन बीएल संतोष और यूपी प्रभारी राधा मोहन सिंह ने राजधानी लखनऊ पहुंचकर योगी आदित्यनाथ सरकार और संगठन से जुड़े पदाधिकारियों के साथ बैठककर उनके काम-काज की समीक्षा की और आगामी विधानसभा चुनाव में सत्ता बरकरार रखने के मंत्र दिए।


भाजपा कोर कमेटी की बैठक में पहले दिन मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ चर्चा के बाद बीएल संतोष और राधा मोहन सिंह ने दोनों डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्या और डॉ. दिनेश शर्मा समेत तमाम मंत्रियों, पार्टी पदाधिकारियों और लखनऊ क्षेत्र के विधायकों और सांसद के साथ एक-एक कर बैठक की है। इस दौरान कोरोना काल में किए गए सेवा कार्यों की जानकारी लेकर सरकार और संगठन के काम-काज और आपसी समन्वय जैसे तमाम मुद्दों पर भी उनका फीडबैक लिया।


लखनऊ प्रवास के तीसरे दिन भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री संगठन बीएल संतोष ने मीडिया एवं आइटी सेल के पदधिकारियों से संवाद किया। इस दौरान पदाधिकारियों से सवाल-जवाब हुए। बैठक के दौरान उनका जोर केंद्र की मोदी और उत्तर प्रदेश की योगी सरकार की उपलब्धियों और अच्छे कार्यों व संगठन के सेवा कार्यों की जानकारी सुलभता से लोगों तक पहुंचाने पर रहा। उन्होंने कहा कि यह दोनों ही विभाग सरकार और संगठन की इमेज बिल्डिंग के लिए महत्वपूर्ण हैं। आपसी सामंजस्य व समन्वय से इसे और भी बेहतर किया जा सकता है।


सभी पदाधिकारियों को साफ संदेश दिया गया है कि सृजनात्मक ढंग से आम लोगों तक सरकार की नीतियों और प्रयासों को पहुंचाने के साथ ही जनता का फीडबैक लेकर दिन प्रति दिन अपडेट किया जाए। आने वाले दिनों में विपक्ष की नकारात्मक टिप्पणियां बढ़ेंगी। उनकी ओर से सरकार की मनगढ़ंत तीखी अलोचना की जाएगी, इनका तर्क के साथ उचित जवाब भी दिया जाए।


बैठक में प्रदेश सरकार के प्रवक्ता सिद्धार्थनाथ सिंह, भाजपा के प्रदेश मीडिया इंचार्ज मनीष दीक्षित प्रदेश प्रवक्ता समीर सिंह, हरिश्चन्द्र श्रीवास्तव, हीरो वाजपेयी, मनीष शुक्ला, प्रदेश मीडिया सहप्रभारी हिमांशु दुबे, आलोक अवस्थी तथा मीडिया सहसम्पर्क प्रमुख अभय सिंह और आइटी टीम की बैठक अंकित चंदेल, कामेश्वर मिश्रा, सौरभ मरोडिया और अन्य मौजूद रहे।


सरकार और संगठन में परिवर्तन की अटकलों के बीच जिस तरह सभी स्तरों पर नए सिरे से ऊर्जा फूंकने का काम शुरु हुआ है वो ये बताता है कि भाजपा किसी मुगालते में नहीं है और सरकार होने के बावजूद शून्य से शिखर का रास्ता कैसे तय करना इस पर बाकी पार्टियों को पीछे छोड़ रणबाकुरों को रणनीति का प्रसाद बांटा गया है।


टीम स्टेट टुडे



विज्ञापन
विज्ञापन