मस्जिदों के लाउडस्पीकर शासकीय कार्यों और सामान्य जनजीवन में बाधा पहुंचा रहे हैं – मंत्री आनंद शुक्ला



मस्जिदों से तेज आवाज में होने वाली आजान प्रदेश के लोगों के लिए सिरदर्द बनती जा रही है। आम आदमी ही नहीं अब अजान के शोर से शासकीय कार्यों में भी बाधा पहुंच रही है। उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ सरकार के संसदीय कार्य और ग्राम्य विकास राज्य मंत्री आनंद शुक्ला को भी अजान पर एतराज है। मंत्री आनंद शुक्ला ने बलिया के जिलाधिकारी को पत्र लिखकर अधिक संख्या में लगे लाउडस्पीकरों को हटाने की मांग की है।


आनंद शुक्ला ने डीएम को जो पत्र लिखा है उसके मुताबिक बलिया की मस्जिदों में नमाज के दौरान अजान, दिनभर लाउडस्पीकर के माध्यम से धार्मिक प्रचार-प्रसार, मस्जिद निर्माण हेतु चंदा एकत्र करने और विभिन्न प्रकार की सूचनाओं को अत्यधिक तेज आवाज में प्रसारित किया जाता है। इसके चलते छात्रों की पढ़ाई लिखाई, बच्चों, बूढ़ों और बीमार लोगों की सेहत पर भी प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। जनसामान्य को भी सुप्रीम कोर्ट द्वारा तय मानक तोड़ने के चलते अत्यधिक ध्वनि प्रदूषण का सामना करना पड़ रहा रहा है।



आनंद शुक्ला ने पत्र में लिखा है कि उनके विधानसभा क्षेत्र में मदीना मस्जिद काजीपुरा, के पास कई शैक्षणिक संस्थान हैं। लाउडस्पीकर की तेज आवाज के चलते आम आदमी परेशान है। दिन में पांच बार नमाज और पूरे दिन तरह तरह के धार्मिक प्रचार-प्रसार और सूचनाओं को तेज आवाज में मस्जिद से लाउडस्पीकर के जरिए शोर की वजह से मेरे योग, ध्यान, पूजा-पाठ और शासकीय कार्यों में दिक्कत होती है। इसलिए इस पर तत्काल संज्ञान लिया जाए।



आपको बता दें कि इससे पहले प्रयागराज विश्वविद्यालय कुलपति ने भी मस्जिदों से बार बार होने वाली नमाज के शोर को लेकर डीएम को पत्र लिखा था। जिसमें बाद प्रयागराज के सिविल लाइंस स्थित लाल मस्जिद की मीनार पर लगे लाउडस्पीकर की दिशा को बदलना पड़ा था।


सिर्फ इतना ही नहीं दिशा मोड़ने के अलावा लाउडस्पीकर की आवाज को भी पहले की तुलना में काफी हद तक कम कर दिया गया।


टीम स्टेट टुडे


विज्ञापन
विज्ञापन