google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के वाराणसी दौरे की ये सूचनाएं आप तक पहुंचना जरुरी हैं – ध्यान दीजिए



अपने संसदीय क्षेत्र को लेकर एक सांसद की ललक कैसी होनी चाहिए ये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सार्वजनिक जीवन में सक्रिय जनसेवक सीख सकते हैं। 2014 में पहली बार वाराणसी से लोकसभा के लिए निर्वाचित हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2019 में भी अपना करिश्मा बरकरार रखा।


ये 27वीं बार था जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वाराणसी अपने संसदीय क्षेत्र पहुंचे।


पीएम ने काशीवासियों को 1475 करोड़ की परियोजनाएं सौंपी। जिनमें 744 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का लोकार्पण और 730.91 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का शिलान्यास किया। इसके साथ ही 186 करोड़ की लागत से बना भारत-जापान की दोस्ती का प्रतीक रुद्राक्ष कंवेंशन सेंटर का भी लोकार्पण किया।


प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पीएम मोदी का वाराणसी आने पर आभार जताया। उन्होंने बीएचयू में लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि नई काशी अब नए आयामों को छू रही है। बीते 16 महीनों से पूरा देश और दुनिया कोरोना वायरस महामारी से त्रस्त है। पीएम मोदी के नेतृत्व में जिस तरह कोरोना को निंयत्रित किया गया है। जिसकी हर तरफ तारीफ हो रही है।


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनसभा को संबोधित करते हुए बनारसियों का दिल जीत लिया। पीएम मोदी ने अपने भाषण की शुरुआत भोजपुरी में की। उन्होंने भारत माता की जय और हर हर महादेव बोलते हुए अपनी बात शुरू की। कहा कि लंबे समय बाद आप सब लोगन से सीधी मुलाकात का अवसर मिलल हो। काशी के सभी लोगन के प्रणाम। हम समस्त लोग के दुख हरे वाले भोलेनाथ, माता अन्नपूर्णा के चरण में भी शीश झुकावत ही।


रुद्राक्ष कंवेंशन सेंटर में प्रधानमंत्री एक घंटे तक रहे। उनके साथ जापान के राजदूत सतोषी सुजुकी, राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मौजूद थे।


कंवेंशन सेंटर पहुंचते ही सबसे पहले प्रधानमंत्री परिसर में एक रुद्राक्ष का पौधा लगाया। पौधरोपण के बाद उन्होंने रिबन काटकर सेंटर का उद्घाटन किया। इसके बाद प्रधानमंत्री शिलापट्ट का अनावरण कर रुद्राक्ष को देश को समर्पित कर दिया। इस दौरान मुख्यमंत्री के द्वारा प्रधानमंत्री को कंवेंशन सेंटर का स्मृति चिह्न भेंट किया। इसके बाद जापान के प्रधानमंत्री योशिहिदे सुगा का भी वीडियो संदेश सुनाया गया।


रुद्राक्ष कंवेंशन सेंटर में पीएम मोदी ने संबोधन में कहा कि कोरोना काल में जब दुनिया ठहर गई थी, तब काशी अनुशासित हुई थी लेकिन विकास की धारा यहां पर अविरल बहती रहती थी। काशी के विकास के आयाम इंटरनेशनल सेंटर रुद्राक्ष आज इसी रचनात्मकता और गतिशीलता का परिणाम है। काशी के हर जन को बधाई देता हूं। भारत के परम मित्र जापान और पीएम के साथ जापान के राजदूत को भी धन्यवाद देता हूं।


27 वें दौरे की खास बातें



स्‍थानीय बोली में संवाद

पीएम मोदी ने हर हर महादवे के साथ संबोधन का समापन किया तो शुरुआत में काशिका और भोजपुरी में लोगों संग संवाद कर अपने काशी संग सात साल के संबंधों को ताजा किया।


कोरोना की चर्चा

पीएम ने बीमारियों से जूझने के दौरान सौ साल में पूरी दुनिया में आई सबसे बड़ी आफत है। इसलिए कोरोना से निपटने में यूपी के प्रयास उल्‍लेखनीय है। काशी के साथियों और शासन प्रशासन संग कोरोना योद्धाओं की टीम का आभारी हूं। कभी आधी रात को फोन किया तो लोग मोर्चे पर तैनात मिले। आपने प्रयासों में कोई कमी नहीं छोड़ी। इसी का नतीजा है कि यूपी में हालत संभलने लगा है। यूपी में सबसे अधिक टेस्टिंग हो रही है। यूपी पूरे देश में सबसे अधिक वैक्‍सीनेशन का राज्‍य है। सबको मुफ्त वैक्‍सीन मिल रही है। गरीब किसान नौजवान को फ्री वैक्‍सीन लगाई जा रही है।


यूपी में स्‍वास्‍थ्‍य सेवाओं में बढ़ोत्तरी


पीएम ने कहा कि प्रदेश में मेडिकल कालेज चार गुना हो चुके है। संसाधनों में तेजी से इजाफा हो रहा है। बनारस में ही चौदह आक्‍सीजन प्‍लांट का लोकार्पण हुआ है। बच्‍चों के लिए विशेष आक्‍सीजन और आइसीयू विकसित करने का बीड़ा यूपी सरकार ने उठाया है। कोरोना की स्‍वास्‍थ्‍य सेवाओं का विशेष पैकेज घोषित किया है। पूर्वांचल मेडिकल का हब बन रहा है। महिलाओं और बच्‍चों की चिकित्‍सा से जुड़े अस्‍पताल बनारस को मिले हैं। सौ बेड बीएचयू और 50 बेड जिला अस्‍पताल में जुड़ रहे हैं। नेत्र संस्‍थान में आंखों से जुड़ी बीमारियों का लाभ भी मिल पाएगा।



काशी की परंपराओं का मान

काशी रुकती नहीं है थकती नहीं है' कहकर काशी की महिमा का बखान किया। पीएम ने कहा कि काशी मौलिक पहचान के साथ ही विकास के पथ पर तेजी से अग्रसर है। आठ हजार की परियोजनाओं पर काम चल रहा है। यह काशी को और जीवंत कर रहे हैं। मां गंगा की स्‍वच्‍छता के लिए भी प्रयास हो रहा है।


वाराणसी में विकास योजनाएं

पंचकोसी मार्ग सुधार से गांवों की स्थिति और पूर्वांचल में भी सुधार आएगा। गोदौलिया में मल्‍टीलेवर पार्किंग से किचकिच कम होगी। लहरतारा से चौकाघाट तक राहत मिलेगी। जन सुविधाओं का काम पूरा हो जाएगा। यूपी के किसी भी परिवार को परेशान नहीं होना पड़े इसलिए हर घर जल अभियान पर काम हो रहा है। सीसीटीवी सर्विलांस, स्‍क्रीन और इसपर प्रसारण पूरे शहर में संभव हो पाएगा। रो रो सेवा और क्रूज बोट का संचालन होने से पर्यटन में इजाफा होगा और नाविक साथियों को लाभ मिलेगा। डीजल से नावें सीएनसी में हो रही हैं। पर्यावरण और पर्यटन में लाभ होगा खर्च भी कम होगा।


रुद्राक्ष से कला संस्‍कृति का लाभ


रुद्राक्ष को काशीवासियों को सौंपते हुए पीएम ने कहा कि विश्‍व स्‍तरीय साहित्‍याकार, संगीतकारों ने विश्‍व स्‍तर पर धूप मचाई है। उनकी कलाओं के प्रदर्शन के लिए कोई सुविधा नहीं दी है। अब सभी को अपनी कला दिखाने के लिए एक आधुनिक मंच मिल रहा है। पुरातन वैभव की समृद्धि ज्ञान की गंगा से जुड़ी है। काशी के ज्ञान विज्ञान में विकास निरंतर जरूरी है। आधुनिक शिक्षा केंद्र युवाओं के लिए काशी की भूमिका को और मजबूत करेंगे।


विकास के रास्ते पर उत्तर प्रदेश


यूपी के विकास का खाका खींचते हुए योजनाओं के पूरा होने की जानकारी दी। बताया कि दुनिया के बड़े निवेशक आत्‍मनिर्भर भारत के महायज्ञ से जुड़ रहे हैं। यूपी इसमें अग्रणी होकर उभर रहा है। पहले यूपी में कारोबार मुश्किल था, आज मेक इन इंडिया में यूपी की भूमिका बढ़ी है। सड़क, रेल और हाइवे संपर्क में सुधार से जीवन आसान हो रहा है। कारोबार में भी इससे सहूलियत मिली है। यूपी को चौड़ी और आधुनिक सड़कों का काम तेजी से चल रहा है। इससे युवाओं को भी रोजगार मिल सकेगा और पलायन रुकेगा।




पूर्वांचल का विकास

डिफेंस कारीडोर, पूर्वांचल, बुंदेलखंड, लिंक या गंगा एक्‍सप्रेस हो इससे यूपी के विकास को बुलंदी मिलेगी। इन पर गाड़‍ियां ही नहीं इनके इर्द गिर्द आत्‍मनिर्भर भारत के लिए औद्योगिक इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर भी बढ़ेंगे। कृषि आधारित उद्योगों की भूमिका भी बढ़ेगी। मंडियों को समृद्ध और विकल्‍प देना सरकार की प्राथमिकता है। कृषि से जुड़े कारोबार को लेकर काम लगातार चल रहा है। वाराणसी पूर्वांचल पेरिशेबल कार्गो सेंटर, राइस सेंटर, पैकेजिंग सब किसानों को लाभ मिल रहा है। बनारसी लंगड़ा यूरोप से खाड़ी तक मिठास फैला रहा है। क्षेत्र को एग्रो हब बनने में मदद मिलेगी। काशी में फल सब्‍जी निर्यात से सभी को लाभ मिलेगा।


यूपी सरकार को दिया क्र‍ेडिट


पीएम ने कहा कि यूपी सरकार की निष्‍ठा का प्रमाण है। ऐसा नहीं है कि 2017 से पहले यूपी के लिए योजनाएं नहीं थीं। 2014 में सेवा करने का मौका मिला तक भी दिल्‍ली से इतने ही प्रयास होते थे। तब लखनऊ में उनमें रोड़ा लग जाता था। आज योगी जी खूब मेहनत कर रहे हैं। काशी के लोग देखते हैं कि योगी जी खूब ऊर्जा लगाकर कामों को गति देते हैं। हर जिले में सीएम जाते हैं। यही वजह है कि यूपी में बदलाव के यह प्रयास आज आधुनिक यूपी बनाने में तेजी से आगे बढ़ रहे हैं।



कानून व्‍यवस्‍था पर जोर

यूपी में माफ‍िया और आतंकवाद पर अब कानून का शिकंजा है। बहन बेटियों की सुरक्षा को लेकर मां बाप चिंता में थे वह हालात बदल गया है। बहन बेटियों पर आंख उठाने वाले कानून से बच नहीं पा रहे हैं। यूपी में सरकार आज भ्रष्‍टाचार और भाई भतीजावाद से नहीं विकास वाद से चल रहा है। आज यूपी में जनता की योजना का लाभ जनता से मिल रहा है। कानून में सुधार से आज यूपी में नए उद्योगों का निवेश हो रहा है। विकास प्रगति की यात्रा में यूपी का जन जन की भागीदारी शामिल है।


इसमें दोराय नहीं है कि आने वाला समय चुनाव का है। प्रधानमंत्री का ये दौरान कई मायनों में अहम रहा। ना सिर्फ योजनाएं मूर्त रुप ले रही हैं बल्कि समयबद्ध तरीके से काशी, पूर्वांचल और उत्तर प्रदेश में योजनाओं को अमली जामा पहनाया जा रहा है। लुक ईस्ट की नीति देश ही नहीं प्रदेश में भी कारगर रही है। इस लिहाज से पीएम का ये दौरा सियासी लिहाज से भी महत्वपूर्ण रहा।


टीम स्टेट टुडे


विज्ञापन

{{count, number}} view{{count, number}} comment