google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

शाइस्ता की तलाश में जगह-जगह पुलिस की छापेमारी


प्रयागराज, 20 अप्रैल 2023 : अतीक अहमद और अशरफ की पुलिस कस्टडी में हत्या के बाद शाइस्ता परवीन की तलाश में तेजी आई है लेकिन तमाम कोशिश के बावजूद उसे पकड़ा नहीं जा सका है। बुधवार को भी पुलिस और एसओजी ने प्रयागराज के साथ ही कौशांबी जनपद में जगह-जगह छापेमारी की। तमाम घरों में खोजबीन के अलावा पुलिस ने यमुना और गंगा के कछारी इलाके में ड्रोन कैमरे से सर्च आपरेशन चलाया। हालांकि कोई नतीजा नहीं निकल सका।

24 फरवरी को उमेश पाल और दो सरकारी गनर की हत्या के बाद 54 दिन गुजर चुके हैं। इस बीच अतीक अहमद और अशरफ की हत्या कर दी गई। अतीक के बेटे असद के अलावा शूटर गुलाम, विजय चौधरी उर्फ उस्मान तथा अरबाज को मुठभेड़ में मार दिया गया। मगर तीन शूटरों गुड्डू मुस्लिम, अरमान और साबिर के साथ ही अतीक की पत्नी शाइस्ता परवीन को नहीं पकड़ा जा सका है।

प्रयागराज और कौशांबी में छिपे होने की आशंका

उमेश पाल की हत्या की साजिश रचने की आरोपित शाइस्ता परवीन 50 हजार रुपये और बाकी तीनों शूटर पांच-पांच लाख रुपये के इनामी अभियुक्त हैं। संभावना थी कि शाइस्ता अपने बेटे असद और पति तथा देवर के जनाजे में आ सकती है लेकिन वह नहीं आई। इसके बाद पुलिस ने तलाश शुरू की क्योंकि शाइस्ता के प्रयागराज और कौशांबी में कहीं छिपे होने की आशंका है।

मायके वाले घर छोड़कर भाग गए

पुलिस फोर्स ने मंगलवार को दिन भर और रात में प्रयागराज में करेली, खुल्दाबाद, चकिया, कसारी-मसारी, पूरामुफ्ती के मरियाडीह, उमरी, सिलना, हटवा, भरेठा गांव में घर-घर तलाशी ली थी। शक था कि शाइस्ता परवीन किसी घर में छिपी हो सकती है। चकिया में मायके वाले तो घर छोड़कर भाग गए।

भोर से लेकर रात तक तलाशी अभियान जारी रहा

बुधवार को भी भोर से लेकर रात तक तलाशी अभियान जारी रहा। अतीक की अधिकांश रिश्तेदारियां खुल्दाबाद, पूरामुफ्ती के अलावा कौशांबी जिले के कोखराज, संदीपन घाट के विभिन्न गांवों में भी हैं। बुधवार को भनक लगी कि शाइस्ता परवीन गंगा के कछारी गांव में छिपी है। ऐसे में कौशांबी पुलिस ने महगांव, उजैहिनी खालसा और सैयद सरावां गांव में दबिश दी।

पुलिस के हाथ खाली ही रहे

बहरहाल घंटों खाक छानने के बाद पुलिस के हाथ खाली ही रहे। इस संबंध में पुलिस अधीक्षक बृजेश कुमार श्रीवास्तव का कहना है कि शाइस्ता परवीन की तलाश के अलावा चुनावी दृष्टिकोण से भी जिले की पुलिस गांवों में कांबिंग कर रही है। बुधवार को भी कई गांवों में पुलिस पहुंची थी।

सरेंडर क्यों नहीं करती बेगम

इधर कई दिन से अतीक की बीवी शाइस्ता परवीन के अदालत में समर्पण करने की आशंका के चलते पुलिस हर दिन जिला अदालत के चौतरफा घेराबंदी करती है ताकि उसे बाहर ही गिरफ्तार किया जा सके। मगर बेगम सरेडर के लिए जिला अदालत आ नहीं रही। अब पुलिस के बीच यह सवाल उठ रहा है कि आखिर शाइस्ता परवीन सरेंडर का सुरक्षित तरीका क्यों नहीं अपना रही है। क्या वह पुलिस के डर से अदालत में सरेंडर करने नहीं जा रही है या फिर वह अतीक के साम्राज्य को संभालने के लिए खुद को तैयार कर रही है। अतीक और अशरफ के बाद शाइस्ता ही अतीक की सबसे बड़ी राजदार है।

साबिर की पल्हना कछार में खोजबीन

कौशांबी: हत्याकांड के बाद फरार एक शूटर साबिर के बारे में खबर मिली कि वह कोखराज में पल्हना गंगा कछार की तरफ देखा गया है। इसके बाद कौशांबी एडिशनल एसपी समरबहादुर कई थानों की पुलिस के साथ कछार में पहुंच गए। ड्रोन कैमरे के जरिए भी पूरा कछारी क्षेत्र देखा गया लेकिन साबिर नहीं मिला।

25 views0 comments

Comments


bottom of page