google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

श्रावस्ती जिले में महिला सिपाही अब दो तरह से करेंगीं “इलाज”




पुलिस का काम वैसे तो कानून तोड़ने वालों का सही इलाज करना ही माना जाता है लेकिन श्रावस्ती में मित्र पुलिस की महिला विंग दो तरह के लोगों का इलाज करेगी।


गुंडे,बदमाश,लुटेरे,शातिर तो पुलिस से हमेशा की तरह इलाज पाएंगें ही लेकिन अब श्रावस्ती जिले में मित्र पुलिस की महिला विंग पीड़ितों की सुरक्षा के साथ ही बीमार और घायलों के इलाज के लिये फर्स्ट एड बॉक्स से इलाज करने का भी काम करेंगीं।


'मिशन शक्ति अभियान' के तहत थानों में महिला हेल्प डेस्क पर तैनात महिला पुलिस कर्मियों को कुशल चिकित्सकों द्वारा उपचार करने का प्रशिक्षण दिया गया और फर्स्ट ऐड बॉक्स की किट भी उपलब्ध करायी गयी।

पुलिस अधीक्षक श्रावस्ती अरविंद कुमार मौर्य की अध्यक्षता में पुलिस कार्यालय के सभागार कक्ष में मिशन शक्ति अभियान के तहत महिलाओं की सुरक्षा के लिए जनपद के सभी थानों में स्थापित महिला हेल्प डेस्क में नियुक्त महिला कर्मियों की गोष्ठी की गई। चिकित्सकों द्वारा प्राथमिक उपचार का प्रशिक्षण देते हुए प्राथमिक उपचार किट प्रदान किया गया।


गोष्ठी में महिला थाना, वन स्टाप सेन्टर, पुलिस कार्यालय सहित सभी थानों में स्थापित हेल्प डेस्क में नियुक्त 02-02 महिला कर्मियों को डा0 राकेश कुमार भारती(सीएचसी सोनवा), डा0 सपना श्रीवास्तव(सीएचसी सोनवा), डा0 सन्ध्या सिंह, डा0 रोहित शशांक(संयुक्त जिला चिकित्सालय श्रावस्ती) द्वारा प्राथमिक चिकित्सकीय प्रशिक्षण दिया गया। स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा प्रशिक्षण में उपस्थित सभी महिलाकर्मियों का स्वास्थ्य परिक्षण किया गया इसी दौरान सभी कर्मियों को बैन्डेज लगाना, घाव को साफ करना तथा बीपी चेक करने, इंजेक्शन लगाने, शुगर टेस्ट करना, पल्स व आक्सीजन नापने वाले उपकरणों का लाइव डेमो देते हुए सभी कर्मियों से एक-एक कर प्रेक्टिकल कराया गया।



पुलिस अधीक्षक व अपर पुलिस अधीक्षक द्वारा सभी थानों पर स्थापित महिला हेल्प डेस्क को प्राथमिक उपचार किट उपलब्ध कारायी गयी।


डा0 राकेश कुमार भारती (सीएचसी सोनवा) द्वारा प्राथमिक उपचार किट में उपलब्ध सभी दवाओं के बारे में बताते हुए उनके प्रयोग के बारे में विस्तृत जानकारी दी गयी।


अपर पुलिस अधीक्षक द्वारा गोष्ठी को सम्बोधित करते हुए बताया गया कि आप के थाने पर जब कभी कोई घायल महिला आती है तो सर्वप्रथम आप उसका प्राथमिक उपचार करेंगी तथा उसकी समस्या को सरलता पूर्वक सुनते हुए निराकरण हेतु सम्बन्धित को निर्देशित करेंगी।


टीम स्टेट टुडे


विज्ञापन
विज्ञापन

Commentaires


bottom of page