google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
 

दत्तोपंत ठेंगड़ी राष्ट्रीय श्रमिक शिक्षा विकास बोर्ड का 63वां स्थापना एवं सह हिंदी दिवस आयोजन



प्रयागराज: दत्तोपंत ठेंगड़ी राष्ट्रीय श्रमिक शिक्षा विकास बोर्ड के क्षेत्रीय निदेशालय प्रयागराज ने गुरुवार को बोर्ड 63 वां स्थापना दिवस एवं सह हिंदी दिवस का आयोजन किया।


कार्यक्रम का उद्घाटन मुख्य अतिथि और प्रयागराज उत्तरी क्षेत्र के विधायक हर्षवर्धन बाजपेई ने दीप प्रज्वलित करके किया। इस अवसर पर श्रमिक शिक्षा एवं विकास बोर्ड क्षेत्रीय सलाहकार समिति के अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश राज्य उच्च शिक्षा परिषद, लखनऊ के अध्यक्ष गिरीश चंद त्रिपाठी क्षेत्रीय भविष्य निधि आयुक्त द्वितीय तेज प्रताप सिंह यादव भी उपस्थित थे।


इस कार्यक्रम में आमंत्रित वक्ताओं ने वर्तमान परिवेश में श्रमिक शिक्षा के महत्व एवं बदलाव किए बिंदुओं पर विचार विमर्श किया सर्वप्रथम राष्ट्रीय श्रमिक शिक्षा एवं विकास बोर्ड के क्षेत्रीय निदेशक विष्णु प्रकाश मिश्र ने कार्यक्रम में पधारे सभी अतिथियों का स्वागत किया एवं श्रमिक शिक्षा दिवस व स्थापना दिवस तथा बोर्ड के संगठित और असंगठित तथा ग्रामीण श्रमिकों के कार्यक्रम के विषय पर चर्चा की। इसी क्रम में पूर्व क्षेत्रीय निदेशक एसएन तिवारी ने अपने अनुभव को साझा किया इसके बाद पूर्व वरिष्ठ शिक्षा अधिकारी हरि सिंह ने कहा कि बोर्ड के 50 क्षेत्रीय निदेशालय के माध्यम से श्रमिकों को उनके अधिकार एवं कर्तव्य की जानकारी देते हुए जीवन स्तर को सुधारने का कार्य किया जा रहा है। हिंदू मजदूर सभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष भोलानाथ तिवारी ने कहा की श्रमिक शिक्षा बोर्ड सैनिकों को अपने परिवार की तरह मानता है तथा उनके अंदर नेतृत्व शैली का विकास करता है।

क्षेत्रीय ने कहा की केंद्र एवं राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही कल्याणकारी योजनाओं के लाभ के लिए सभी श्रमिक वर्ग आधार कार्ड मोबाइल संख्या व बैंक खाता संख्या हमेशा अद्यतन रखें तथा भारत सरकार द्वारा चलाई जा रही सामाजिक सुरक्षा योजनाओं की जानकारी उन्होंने दी। राष्ट्रीय बाल श्रम योजना के में प्रोग्राम मैनेजर सर्वेश पांडे ने ई श्रम पोर्टल के बारे में जानकारी दी।

विधायक एवं कार्यक्रम के मुख्य अतिथि हर्षवर्धन बाजपेई श्रमिकों के उत्थान के लिए विभाग द्वारा चलाए जा रहे जागरूकता कार्यक्रम की प्रशंसा की। उन्होंने कहा भारतीय गणतंत्र को महान नानी के लिए श्रम शक्ति का शिक्षित होना अति आवश्यक है।

विशिष्ट अतिथि के रुप में पधारे गिरीश चंद त्रिपाठी ने कहा श्रम अर्थव्यवस्था का महत्वपूर्ण आयाम है। उन्होंने कहा कि दत्तोपंत ठेंगड़ी के विचारों को सही मायने में राष्ट्रीय श्रमिक शिक्षा बोर्ड परिलक्षित करता है। राष्ट्र का विकास सही मायने में तभी संभव होगा जब श्रमिक वर्ग जागरूक होगा। कार्यक्रम का संचालन शिक्षा अधिकारी हरि नारायण मिश्रा और धन्यवाद ज्ञापन उत्तम सिंह ने किया।


टीम स्टेट टुडे


विज्ञापन

47 views0 comments
 
google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0