google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

मानसिक स्वास्थ्य विशेषज्ञ डॉ.आशुतोष श्रीवास्तव की सेवाएं लोगों के जीवन में ला रही है सकारात्मक बदलाव

Updated: Aug 19, 2023


लखनऊ, 21 जून 2023 : डॉ. आशुतोष श्रीवास्तव लखनऊ शहर के जाने माने मानसिक स्वास्थ्य विशेषज्ञ हैं। डॉ. आशुतोष अपनी विशिष्ट सेवाओं के माध्यम से लोगों के जीवन में सकारात्मक बदलाव लाने में सफल हैं।उनकी विशेषज्ञता और संवेदनशीलता के कारण उनकी गिनती अब देश के बेहतरीन मनोविज्ञानिज्ञों में हो रही है।


हर व्यक्ति के सोचने और समझने की शक्ति अलग अलग है। एक ही विषय पर अलग अलग व्यक्तियों का नजरिया भी अलग अलग हो सकता है। ठीक उसी प्रकार सामान्य लग रहे व्यक्ति की अपनी मानसिक समस्याएं हो सकती हैं जो उसके जीवन में कई बार समस्याएं पैदा करती हैं। ऐसे में लोगों के मन-मस्तिष्क की समस्याओं को समझना और समाधान निकालना आसान नहीं होता।


डॉ. आशुतोष श्रीवास्तव का मनोविज्ञानी के रुप में लंबा अनुभव और अपने कार्यक्षेत्र में विशेष रुचि उन्हें दूसरों से अलग बनाती है। अपने करियर के दौरान उनका सामना विभिन्न मानसिक समस्याओं से ग्रस्त मरीजों से हुआ।

ऐसे लोग जो अलग अलग कारणों से डिप्रेशन, अवसाद, अस्थायी तनाव, पारिवारिक, सामाजिक या निजी संबंधों की समस्याओं और व्यक्तित्व विकास के चलते जीवन से निराश थे उन्हें डॉ. आशुतोष ने स्थाई समाधान दिए हैं। ऐसे बहुत सारे लोग इस बात का प्रमाण है कि उनके जीवन में क्लिनिकल ट्रीटमेंट और काउंसलिंग के कारण आमूलचूल बदलाव आए हैं।


डॉ. श्रीवास्तव की सेवाएं मानसिक स्वास्थ्य के क्षेत्र में विशेष ज्ञान, अनुभव और संवेदनशीलता पर आधारित होती हैं। उनका योगदान मानसिक बीमारियों के निदान, उपचार, रोगियों की सहायता, और सकारात्मक दृष्टिकोण से मानसिक स्थिति के प्रोत्साहन में बहुत महत्वपूर्ण है।

डॉ. श्रीवास्तव के प्रदान किए जाने वाले उपाय और सलाह लोगों को मानसिक स्वास्थ्य की दिशा में प्रगति करने में मदद करते हैं जिससे कई लोगों का मानसिक संतुलन ना सिर्फ उच्च स्तर पर पहुंचा है बल्कि उनके जीवन में आई सकारात्मकता से वो खुशहाल जिंदगी जी रहे हैं।
जैसे हर ताले की अलग चाबी होती है उसी प्रकार डॉ. आशुतोष अपने हर मरीज के लिए अलग अलग व्यक्तिपरक दृष्टिकोण रख कर अचूक उपचार योजना तैयार करते हैं।


जीवन की आपाधापी में अगर किसी व्यक्ति ने कभी भी कहा हो कि "जीवन में बहुत तनाव है" या "तनाव से दिमाग फट जाएगा" या "कितना तनाव दोगे" या "मैं तनाव लेता नहीं देता हूं" या किसी भी कारण से कोई बार बार तनाव में आता हो तो डॉ. आशुतोष के मुताबिक ऐसे व्यक्ति मानसिक रोग से ग्रस्त होते ही हैं। वो भले ही सामने से सामान्य दिखते हों लेकिन अक्सर ऐसे लोग जीवन में खुद को फंसा हुआ महसूस करते हैं और कई बार तो जीवन से ऊबने भी लगते हैं। ऐसे में उन्हें परामर्श की आवश्यकता होती है। उन्हें मनोविज्ञान चिकित्सक से सलाह अवश्य लेनी चाहिए।


आम तौर पर लोग हेल्थ चेकअप के नाम पर तरह तरह के पैथॉलॉजी टेस्ट तो कराते हैं लेकिन कभी भी अपने मानसिक तनाव को मापने की कोशिश नहीं करते। जबकि ज्यादातर विकसित देशों में स्ट्रेस लेवल को चेक कराना एक रुटीन प्रक्रिया है। कई मल्टीनेशनल कंपनियां अपने कर्मचारियों का स्ट्रेस लेवल चेक करने के लिए मनोचिकित्सकों के क्लीनिकल टेस्ट का सहारा लेती हैं।


ऐसे में अगर आप अपना शुगर टेस्ट, बीपी टेस्ट, या कंप्लीट बॉडी हेल्थ चेकअप कराते हैं तो जरुरी है कि साल में एक बार अपने स्ट्रेस लेवल की भी जांच कराएं। कहा भी गया है मन चंगा तो कठौती में गंगा। डॉ. आशुतोष का कहना है कि कि अगर अपने काम के दौरान हमारा स्ट्रेस लेवल कंट्रोल रहता है तो परिणाम बेहतर आते हैं।


डॉ. आशुतोष की सेवाएं आम जनता के लिए एक समर्पित प्रयास हैं जो मानसिक स्वास्थ्य के क्षेत्र में सकारात्मक परिवर्तन लाने के लिए कार्यरत हैं। डॉ. आशुतोष श्रीवास्तव के साथ अपॉइंटमेंट लेने के लिए उनकी वेबसाइट www.drashutoshsrivastava.com पर जाएं या 9151909090 पर संपर्क किया जा सकता है।


टीम स्टेट टुडे

234 views0 comments

Comments


bottom of page