google.com, pub-3470501544538190, DIRECT, f08c47fec0942fa0
top of page

वो चेहरे आप भूले तो नहीं जो कोरोनाकाल में मददगार थे! कृतज्ञ है शहर जिन योद्धाओं का उनका है सम्मान



कोरोना की तीसरी लहर का खतरा हर दिन के साथ बढ़ रहा है। केंद्र सरकार लगातार राज्य सरकारों के साथ साथ आम जनता से अपील कर रही है कि कोविड गाइडलाइंस का पालन करें। अगले दो तीन महीने तीसरी लहर के खतरे के लिहाज से बहुत गंभीर है। इसके बाद भी खतरा बना रहेगा अगर लोगों ने सावधानी ना बरती।


कष्ट और जीवन भर की असहनीय पीड़ा कोरोना की दूसरी लहर में लगभग हर घर ने झेली है। जब लोग अस्पताल, दवा, आक्सीजन के लिए जूझ रहे थे तब कुछ कर्मयोगी ऐसे थे जिन्होंने सेवाभाव से निस्वार्थ लोगों की मदद की। सिर्फ जिंदा लोग ही नहीं जो लोग इस दुनिया से महाप्रयाण कर गए उनके लिए भी ये योद्धा डटे रहे। संक्रमण के डर से कई लोगों के अंतिम संस्कार की प्रक्रिया भी बाधित हो रही थी ऐसे उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के कई सेवादार ऐसे थे जिन्होंने अपने प्राणों की परवाह ना करते हुए जन जन की भरसक मदद की।


समय बीता, लॉकडाउन से अनलॉक का दौर शुरु हुआ, जीवन धीरे धीरे ही सही गतिमान हुआ तो शायद लोगों की स्मृति से ऐसे मददगार, कोरोनाकाल के वीर और महान सेवादारों की याद धुंधली सी पड़ने लगी। चूंकि सेवा निस्वार्थ भाव से थी इसलिए ये कोरोनाकाल के योद्धा भी अपने महान कार्यों को नेकी कर दरिया में डाल की भावना से आगे बढ़ गए।


लेकिन लखनऊ शहर और यहां के जीवट जन इतने कृतघ्न भी नहीं कि विपत्तिकाल की कृतज्ञता का सम्मान ना करें। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के निवासी और भारतीय जनता पार्टी में महत्वपूर्ण पदों पर जिम्मेदारियों का निर्वहन करते आए अभिजात मिश्रा निकल पड़े ऐसे कर्मयोगियों के सम्मान के लिए।


कोरोना की दूसरी लहर में अभिजात मिश्रा स्वयं कोरोनाग्रस्त थे। प्रभु की कृपा और आम जन के प्रार्थनाओं से वो स्वस्थ हुए तो निकल पड़े कोरोना वारियर्स के सम्मान के लिए।



इस क्रम में अभिजात मिश्रा पहुंचे लखनऊ मनकामेश्वर वार्ड के पूर्व पार्षद रणजीत सिंह यादव जी के घर। जिनका जीवन सदैव सेवा कार्य में समर्पित रहा है ।अपने वार्ड की स्वच्छता हो या गोमती नदी की स्वच्छता। पूरे लखनऊ महानगर में हर जरूरतमंद के लिये सदैव खड़े रहने वाले कोरोना काल मे तो आप ने सेवा कार्य करने की एक बड़ी मिसाल खड़ी कर दी है।



आप लगभग 14 माह के कोरोना काल से अनवरत सेवा कार्य करते आ रहे है,जिसके कारण आप स्वयं भी कोरोना से गंभीर रूप से संक्रमित हुए व स्वस्थ होने के उपरांत आप पुनः तत्काल राशन वितरण, कम्युनिटी किचन,स्वक्षता,व ऑक्सीजन उपलब्ध कराने आदि कार्यो से ले कर कोरोना महामारी से जिन लोगों का देहांत हुआ उनकी अंतेष्टि हेतु उनके पार्थिव शरीर को शमशाम स्थल में पहुँचाने का कार्य भी पूरी तत्परता से करते रहें।




ये आलोक पांडे जी हैं। जिन्होंने कोरोना काल की पहली लहर से लोगों को के लिये राशन वितरण , किचन कमनुटी, स्वक्षता कार्य किये । कोरोना काल मे अपने पिता जी व अपने ताऊ जी के निधन हो जाने के बावजूद सेवा कार्य करते रहे। कोरोना काल की दूसरी लहार में लगभग 400 लोगों को ऑक्सीजन उपलब्ध कराया ।



भारतीय जनता युवा मोर्चा लखनऊ के पश्चिम मंडल अध्यक्ष अभिषेक गुप्ता जी और इनकी टीम करुनेश पाठक , अतुल सिंह , अनिल मिश्रा , सनी साहू , हिमांशु शुक्ला , रमेश त्रिपाठी , जय गुप्ता , विनीत दीक्षित , राघव कुमार , पीयूष पांडे ने मृतकों को घर से ले कर घाट तक पूरा विधि विधान से अन्तिम संस्कार का कार्यक्रम करने के बाद उन्हें सम्मानजनक विदाई दे कर अगले दिन उनकी अस्थि भी माँ गोमती में प्रवाह करने का काम किया।



गरीब व निर्धन परिवार की अंत्येष्टि का सारा खर्चा भी इन्हीं की टीम ने वहन किया।



लंबे समय से राशन वितरण, रक्तदान व सेनेटाइजिंग का सेवा कार्य भी निरंतर चलाते रहे।




ये अंकित पांडे जी हैं। कोरोनाकाल में अंकित और उनकी टीम ने वृहद सेवाकार्य किए। राशन वितरण से लेकर जन जन की हर संभव मदद करने में ये टीम भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाती रही।




सामाजिक कार्यकर्ता श्री अरुण प्रताप सिंह जी ने कोरोना काल में लोगों में राशन वितरण व चार माह तक कम्युनिटी किचेन चलाया।



इस दौरान खुद भी कोरोना से संक्रमित हुए मगर इनके हौसले बुलंद थे कोरोना को हराने के बाद पुनः जनसेवा में जुट गये ।



अमित त्रिपाठी जी का योगदान की लखनऊ भूल नहीं सकता। कोरोना महामारी मे 2 बार कोरोना पॉजिटिव होने के बावजूद भाजपा युवा मोर्चा के मीडिया प्रभारी अमित त्रिपाठी जी और उनकी टीम के साथियों ने लगातार सेवा कार्य जारी रखा।



लोगों को निःशुल्क भोजन,राशन,मास्क,दवा,ब्लड प्लाज्मा,ऑक्ससीजन सिलिंडर समेत सभी जरूरी संसाधन उपलब्ध कराया। टीम के सदस्य प्रतीक शुक्ला, राज निगम, तुषार सिंह, अनुभव अवस्थी, शांतनु चौहान, अंकित त्रिपाठी दिन रात सेवाकार्य में जुटे रहे।



अभिजात मिश्रा ने अनिल यादव जी का भी शहर वासियों की तरफ से ह्रदय से आभार व्यक्त किया। अनिल यादव जीवनदायिनी स्वास्थ्य विभाग 102 व 108 सेवा के अंतर्गत एम्बुलेंस के माध्यम से निरंतर कोरोना संक्रमित मरीजों की सेवा में अनवरत सक्रिय होकर अपना महत्वपूर्ण योगदान समाज मे प्रदान कर रहे। अनिल अपने संगठन के जिला उपाध्यक्ष भी हैं। कोरोना की पहली लहर में भी अनिल जी पूरी तत्परता से जुटे रहे।

स्वयं भी कोरोना की चपेट में आने के बावजूद अपनी समस्त टीम के साथ लखनऊ शहर की सेवा में आप ने खुद को समर्पित कर दिया ।



उत्तर प्रदेश के लोकप्रिय उपमुख्यमंत्री डॉ०दिनेश शर्मा जी किसी परिचय के मोहताज नहीं। अचानक आई कोरोना की इस जानलेवा महामारी में कोरोना संक्रमित मरीजों के अस्पताल में एडमिशन के लिये ,आक्सीजन सिलेण्डर के लिये, जीवन रक्षक दवाओं के लिये चारों तरफ भीषण संकट उत्पन्न हो गया था। जब लखनऊ हालात बेहद खराब हुए और तुलना चीन के बुहान शहर से होने लगी तब ऐसे कठिन समय में उपमुख्यमंत्री डॉ० दिनेश शर्मा ने लखनऊ वासियों के लिये 18-18 घंटे लगकर उनकी सेवा का बीड़ा उठाया। जो भी मरीज उनके संपर्क में एक बार आ गया उसकी चिंता उन्होंने तब तक कि जब तक वह स्वस्थ होकर अपने घर नही पहुच गया।



इस दौरान दिनेश जी और उनकी धर्मपत्नी दोनों ही कोरोना संक्रमित हो गये किन्तु उनके सेवा भाव को ये घातक बीमारी भी अवरुद्ध न कर पाई। वो अस्पताल से भी अपने शहर के नागरिकों व पार्टी के कार्यकर्ताओं की सहायता में जी-जान से लगें रहे।



समाजसेवी हिमांशु अवस्थी जी और उनकी टीम रमन कुमार, विनीत अग्रवाल, सौरभ पांडेय, रवि कश्यप, अवनीश पांडेय, बंटी शर्मा का भी ये शहर कृतज्ञ है। जिन्होंने इस कोरोना महामारी में निरंतर जरुरतमंद परिवारों को राशन पहुँचाया। कई लोगों को अस्पताल में एडमिट कराने का भी सेवा कार्य किया।



लखनऊ के श्री राम जानकी सेवा समिति के संस्थापक हिमांशु गर्ग जी एवं उनकी टीम नरेंद्र चौरसिया (अध्यक्ष), गौरव शुक्ला (सलाहकार), अनुराग कश्यप (उपाध्यक्ष), रजत अग्रवाल (सचिव), आशीष कश्यप (कोषाध्यक्ष) ने भी कोरोना की दूसरी लहर में जन जन को राशन पहुँचाया साथ ही प्रतिदिन 250 लोगों को भोजन पैकेट वितरण करने का सेवा कार्य निरंतर किया ।



भारतीय जनता पार्टी लखनऊ महानगर के मंत्री एवं पूर्व पार्षद सरदार लखविंदर पाल सिंह जी एवं केंद्रीय सिंह सभा गुरद्वारा आलमबाग लखनऊ के अध्यक्ष-श्रीमान निर्मल सिंह जी और उनके सभी पदाधिकारियों ने कोरोना काल में सैकड़ो परिवारों में राशन वितरण के अलावा लोगों के जीवन रक्षा हेतु ऑक्सीजन का लंगर चलाया।



जिससे सैकडों लोगों के प्राणों की रक्षा हो सकी। वास्तव में ये महान कार्य था। एक तरफ कुछ लोगों आवश्यक वस्तुओं की काला बाजारी कर रहे थे और दूसरी तरफ आप लोग मुफ्त में लोगों को ऑक्सीजन बॉट रहे थे जिससे कई लोगों की जान बच पाई।



इस समिति के पदाधिकारियों में वरिष्ठ उपाध्यक्ष- श्री त्रिलोक सिंह टुटेजा ,कार्यवाहक अध्यक्ष- श्री राजेन्द्र सिंह राजू , महामंत्री- श्री रतपाल सिंह गोल्डी , संयुक्त मंत्री -श्री हरविन्दर सिंह, धार्मिक सचिव- श्री चरनजीत सिंह , प्रबन्धक- श्री मनप्रीत सिंह वडेरा , स्टोर कीपर-श्री हरमहेन्दर सिंह ,कोषाध्यक्ष-श्री हरजीत सिंह , सदस्य -श्री जसविन्दर सिंह , सदस्य-श्री जसबीर सिंह राजू जी शामिल हैं।




पुराना जिन के भीतर अब तलक किरदार जिंदा है ।

लुटाकर जान माटी पर वो हर बार जिंदा है ।।

मुसीबत आ नही सकती मेरे मुल्क पर तबतक ।

गर देश मे एक भी सरदार जिंदा है ।।

ये पंक्तियां गुरुद्वारा ऐशबाग पीली कालोनी जन समाज सेवा संस्था के कार्यकर्ताओं पर बिलकुल सही बैठती हैं। कोरोनाकाल में जो मदद की आस लिए आया खाली हाथ नहीं लौटा। वाहे गुरु की मेहर रही और वाहे गुरु ने फतह दिलाई।



इस समिति में अध्यक्ष-सरदार रनजीत सिंह, महामंत्री-सरदार वीरेंद्र सिंह, कोषाध्यक्ष-मनरीत सिंह, स्टोर कीपर- अनेक सिंह , सदस्य-कुलदीप सिह , सदस्य-सुनील कुमार अग्रवाल , सदस्य- निरंजन जौहरी , सदस्य-हरविंदर सिंह , सदस्य -रंजीत सिंह , सदस्य -बलवंत सिंह , सदस्य -परमजीत सिंह जी शामिल रहे।



कोरोना महामारी में सेवा कार्यों में जरूरतमंदो की मदद को नारी शक्ति ने भी अपना बहुमूल्य योगदान दिया है। जिसमें समाजसेविका बहन रंजना मिश्रा जी एवं बहन नेहा सिंह जी ने जरुरतमंदों की हर संभव मदद की।



लखनऊ शहर ऐसी बहनों का भी ऋणी है और उनका बारंबार धन्यवाद करता है।



उत्तर प्रदेश में जनसेवा की मिसाल बने उ०प्र० सरकार के विधि एवं न्याय मंत्री लखनऊ मध्य के यशस्वी विधायक एवं लोकप्रिय नेता बृजेश पाठक जी कोरोनाकाल की विभीषिका में प्रदेश के सभी विधायकों के लिये प्रेरणास्रोत बन गये। जिस तरह बृजेश पाठक जी ने सरकार की छवि की परवाह न करतें हुए जनता के हित को सर्वोपरि मानकर जो अधिकारी अपनी जिम्मेदारी को ठीक से नही निभा रहे थे उनकी आलोचना करते हुए उनकी शिकायत माननीय मुख्यमंत्री जी से की। उससे लापरवाह अधिकारी सचेत होते हुए। जनता के प्रति और अधिक जिम्मेदार हुए।



मंत्री जी ने सर्वप्रथम अपनी विधायक निधि से एक करोड़ रुपये की संस्तुति स्वास्थ्य सेवाओं के लिये तत्काल प्रभाव से की। ये कार्य अन्य विधायकों के लिये प्रेरणा बना। मंत्री जी ने सर्वप्रथम अपनी विधानसभा में कोरोना संक्रमित मरीजो में निशुल्क दवाई की पूरी किट एवं वेपोराइजर का वितरण प्रारम्भ किया। इस कार्य का भी अन्य जनप्रतिनिधियों द्वारा अनुसरण किया गया। अपने विधानसभा क्षेत्र में सर्वप्रथम कम्युनिटी किचेन के माध्यम से लोगो को निशुल्क भोजन उपलब्ध कराया बाद में इस कार्य का भी अन्य जनप्रतिनिधियों द्वारा अनुसरण किया गया ।


पाठक जी ने लोगों से संवाद कायम रखते हुए उनकी हर तरह की सहायता के लिये प्रयास किए। अस्पताल में बेड , जीवनरक्षक दवा या ऑक्सीजन सिलेण्डर जिसे जैसी जरुरत पड़ी उसकी वैसी मदद की गई। शहर की जनता बृजेश पाठक जी का भी ह्रदय से आभार व्यक्त करती है। शहरवासियों की ओर से अभिजात मिश्रा ने मंत्री बृजेश पाठक जी का सम्मान किया।



श्री गुरु सिंह सभा गुरद्वारा चंदरनगर की तरफ से भी कोरोना काल में जन जन की मदद की गई। आलमबाग क्षेत्र में कोरोना संक्रमण के मामले कुछ ज्यादा ही थे। ऐसे में लोगों को मदद की आवश्यकता भी अधिक थी। गुरुद्वारे की ओर से हर जरुरतमंद की हर संभव मदद की गई।



यहां समिति में अध्यक्ष-श्री मनमोहन सिंह सेठी जी , वरिष्ठ उपाध्यक्ष- श्री त्रिलोचन सिंह सेठी जी, उपाध्यक्ष - श्रीमनमोहन सिंह मोणी जी , महामंत्री- श्री अजीत सिंह खुराना जी , कोषाध्यक्ष - श्री इंद्रपाल सिंह शेट्टी जी , धार्मिक सचिव- श्री मनमीत सिंह जी , एडिटर - श्री हरीश कोहली जी व अन्य सदस्यगणों ने कोरोना काल की दोनों लहरों में पूरे समाज को अपना परिवार मान कर जो सेवा की है वो अपने आप मे एक मिसाल है ।


अभिजात मिश्रा ने लखनऊ शहर की ओर से इन महान कर्मयोगियों का सम्मान किया।



इन्द्रा प्रदर्शनी वार्ड के सभासद श्री राम कुमार वर्मा जी और गोमती नगर राजीव गांधी प्रथम के सभासद श्री संजय सिंह राठौर जी ने भी कोरोना महामारी काल मे आपने अपने वार्ड की जिम्मेदारी को पूरी निष्ठा से निभाया।



सेनेटाइजिंग राशन वितरण व तमाम लोगों को हॉस्पिटल में एडमिट कराने का कार्य भी किया ।



रामलीला समिति ऐशबाग के अध्यक्ष श्री हरीशचंद्र अग्रवाल जी व सचिव श्रीमान आदित्य प्रकाश द्विवेदी जी के नेतृत्व में कोरोना महामारी में पूरी समिति के द्वारा सैकड़ों परिवारों को कई माह तक भोजन की व्यस्था प्रदान किया। लखनऊ नगरवासी इनका भी सम्मान करते हैं।



बहन स्वाति श्रीवास्तव जी वैसे तो गृहणी है लेकिन कोरोनाकाल में आप ने जो किया वो अद्भुत था । आप ने इस कोरोना काल मे पाँच आटो एम्बुलेंस चलवा कर बहुत से लोगों के जीवन की रक्षा की । पिछले कोरोना काल मे लोगों को भोजन पानी की व्यवस्था उपलब्ध कराई थी । आप ने फतेहपुर Covid स्पोर्ट के लिए अंगीकृत किये 11 गाँव, जो 3 ग्राम सभाओं में आते हैं साहिमापुर ,भिटौरा ,बसौहनी में स्वास्थ्य सम्बंधित तमाम सेवाएं उपलब्ध कराईं।




पूर्व पार्षद स्वर्गीय राम कुमार अग्रवाल जी के पुत्र श्री आशीष अग्रवाल जी एवं शुभ संस्कार समिति के महामंत्री रिद्धि किशोर गौड़ जी ने कोरोना महामारी में रोटी कपड़ा बैंक के माध्यम से सेवा के महान कार्य किये।



लोगों को राशन वितरण दावा वितरण व कोरोना से मृतकजनों का अंतिम संस्कार तक आप लोगो द्वारा किया गया। इस टीम में विपिन अवस्थी जी, संदीप तिवारी जी, अनुभव टंडन जी एवं गौरव शुक्ल जी शामिल थे।

कोरोनाकाल के इन मददगारों का भी शहर अभिजात मिश्रा के माध्यम से सम्मान करता है।



भाजयुमो के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष एवं पूर्व पार्षद श्री साकेत शर्मा जी द्वारा कोरोना काल में किए गये सेवा कार्य चाहे वो अस्पताल में लोगों को एडमिट कराना हो ,लोगों को दवा किट उपलब्ध करना हो।



क्षेत्र में सेनिटाइज़ेशन का कार्य कराना हो , लोगों को राशन वितरण करना हो, आप ने सभी सेवा कार्य बड़ी ही जिम्मेदारी से किये ।



कोरोना महामारी की दोनों लहरों में पूर्व पार्षद लालकुंआ वार्ड श्री अमित सोनकर जी व उनकी पूरी टीम ने बड़ी ही हिम्मत के साथ लोगों की हर प्रकार से मदद की। इस टीम में श्री केतन सोनकर जी, श्री विशाल सोनकर जी, श्री दीपू गुप्ता जी, श्री सोमन्श सिंह जी शामिल रहे।



कोरोना संक्रमण के विपत्तिकाल में अपनी परवाह ना करते हुए ऐसे जनसेवकों का जितना आभार व्यक्त किया जाए वो कम ही होगा। ये सच है कि कोरोना संक्रमण का प्रभाव वर्तमान में कुछ कम जरुर हुआ है लेकिन समाप्त नहीं हुआ।


वैक्सीनेशन का कार्य पूरे प्रदेश में चल रहा है। आप भी वैक्सीन अवश्य लगवाएं। कोविड गाइडलाइंस का पालन करें। साथ ही मन से ऐसे महान कर्मयोगियों का धन्यवाद दें जिनके प्रयासों से शहर की कई जान बचीं और कोई भूखा नहीं सोया। ये सभी हमारे समाज की प्रेरणा हैं आप भी इनसे सीख सकते हैं।


टीम स्टेट टुडे ऐसे सभी कोरोनाकाल के वीरों का ह्रदय से अभिनंदन करती है और अभिनंदन अभिजात मिश्रा का भी जिन्होंने शहर वासियों की ओर से उन लोगों के प्रति कृतज्ञता प्रकट की जो जीवन की आपाधापी में मानवता को नहीं भूले और लखनऊ शहर के सही मायनों में सम्मान और प्रेम के हकदार हैं।

टीम स्टेट टुडे


विज्ञापन

bottom of page